Archive for अक्टूबर, 2010

शरत पूर्णिमा

आश्विन  शुक्ला पूरनमासी  को “शरत पूर्णिमा” कहते हैं। माताएं  आज के दिन अपनी सन्तान की शुभकामना के लिए व्रत पूजन किया करती हैं। शरत पूर्णिमा को आकाश निर्मल होता है अतः चाँद की किरण पृथ्वी पर भली प्रकार पड़ती है। कुछ विद्वानों का मत है कि इस दिन चंद्रमा पृथ्वी के करीब आ जाता है चंद्रमा की किरणों में अमृत होता है।रात्रि के समय गाय के दूध से बनी खीरमें घी और सफेद ख़ांड मिलाकर अर्ध्दरात्रि के समय भगवान के अर्पण करें।
  इस दिन भगवान श्री कृष्ण ने महारास किया थ इस कारण आज के दिन महारास की लीला कई लोग खेलते हैं। कहीं-कहीं  बहन आज के दिन भाई की रक्षा के लिए व्रत रहा करती है।

Advertisements

Leave a comment »

आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी को विजयादशमी मनाई जाती है। यह हमारा राष्ट्रीय पर्व है। इस दिन नीलकंठ के दर्शन करना शुभ माना गया है। इस दिन अपराजिता देवी की पूजा की जाती है। इसका पूजन सर्व सुख़ देने वाला होता है। इस पवित्र पर्व से अनेक कथाएं जुड़ी हैं। पृथक-पृथक कथाओं और मान्यताओं के आधार पर सभी लोग इसे अनेक प्रकार से मनाते हैं। वास्तव में यह त्यौहार बुराई पर भलाई की विजय , न्याय की अन्याय पर विजय और सत्य की झूठ पर विजय की याद दिलाता है। यह त्यौहार हमें अन्याय के विरुद्ध लड़ना सिखाता है। दुराचारी रावण का नहीं बल्कि न्यायमूर्ति राम का अनुकरण करें।हमें ही नहीं , भ्रष्ट व्यापारी वर्ग , उत्काक्षी नेता एवं गुंडों को भी इससे शिक्षा लेनी चाहिए कि हम अपने अन्याय की अति न करें।इसी दिन संसार को मुक्ति का संदेश देने वाले भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था , इससे इस पर्व का महत्व और बढ़ जाता है।

Leave a comment »

दशहरा

आश्विन  मास कओ शुक्ल पक्ष की दशमी को विजयादशमी मनाई  जाती है। यह हमारा राष्ट्रीय पर्व है। इस दिन नीलकंठ के दर्शन करना शुभ माना गया है। इसदिन अपराजिता देवी की पूजा की जाती है। इसका पूजन सर्व सुख़ देने वाला होता है। इसपवित्र पर्व से अनेक कथाएं जुड़ी हैं। पृथक-पृथक कथाओं और मान्यताओं के आधार पर सभी लोगइसे अनेक प्रकार से मनाते हैं। वास्तव में यह त्यौहार बुराई पर भलाई की विजय , न्याय की अन्याय पर विजय और सत्य की झूठ पर विजय की याद दिलाता है। यह त्यौहार हमें अन्याय के विरुद्धलड़ना सिखाता है। दुराचारी रावण का नहीं बल्कि  न्यायमूर्ति राम का अनुकरण करें।हमें  हि नहीं , भ्रष्ट व्यापारी वर्ग , उत्काक्षी नेता एवं गुंडों को भी इससे शिक्षा लेनी चाहिए कि हम अपने अन्याय की अति न करें।इसी दिन संसार  को मुक्ति का संदेश देने वाले भगवान बुद्ध  का जन्म हुआ था , इससे इस पर्व  का महत्व और बढ़ जाता है।

Leave a comment »

विजय-दशमी पर आप सब को बधाई

Comments (1) »

सुविचार

प्रेम में बाहरी हाव-भाव गौण होते हैं ;  ह्रदय  प्रधान होता है।

Leave a comment »

नवरात्र दुर्गापूजा

इसमें  नौ  दुर्गा का पूजन किया जाता है। दुर्गा भगवती का व्रत तथा पूजन होता है। दुर्गा सप्तशती का पाठ कराया जाता है। आठवें दिन दुर्गा नवमी का पूजन होता है। शारदीय नवरात्र  और वासन्तिक नवरात्र की  पूजा एक समान हीहोती है। देवी व्रतों में ‘कुमारी-पूजन परमावश्यक माना गया है।
  हे प्रभु,  तू मेरे  अंग-अंग में  प्रवेश कर और रोम-रोम को अपने प्रकाश से भर दे तो तुम्हारे पथ-प्रदर्शन से मेरे समस्त कार्य ईश्वरीय कर्म बन जाएं।

Leave a comment »

शारदीय नवरात्र आप सब को शुभ हो।

Leave a comment »