Archive for फ़रवरी, 2009

सुविचार

अपने  अतीत  के  दुष्कर्मों  का  पश्चाताप  मत  कीजिए। जो  आप  अब  बनना चाहते  हैं, वह  बन  कर  दिखाइये।

Leave a comment »

महाशिव-रात्रि

फालगुन  कृष्णा  चतुर्दशी  को  महाशिव-रात्रि  का  व्रत  किया  जाता है। यह  भगवान  शंक  का  अत्यन्त  महत्वपूर्ण  व्रत  है। इसका  समूचे  भारत  में  प्रचार  है।भगवान्  शंकर  की  बिल्वपत्रों  से  पूजा  करनी  चाहिए।रातभर  जागरण  करके  भग् वान की  कथाओं  का  श्रवण-मनन  करना  चाहिए। शिव-चालीसा  इत्यादि  का  पाठ  किया  जाता  है।

Leave a comment »

सुविचार

दुख़  तब  होता  है, जब  बीती  बात  याद  आती  है  अथवा  आगामी  की  चिन्ता  होती  है। यदि  दोनों  भूल  जाएँ  तो  सर्व  आनन्द  है।

Comments (2) »

सत्यवचन

जो  मनुषय  अपने  से  अधिक  बुद्धिमान  से  वाद-विवाद  करता  है, इस  विचार  से  कि  दूसरे  उसे  बुद्धिमान  समझें, वास्तव  में  वह  मूर्खता  को  साबित  कर  रहा  है।

Leave a comment »

सुविचार

सौन्दर्य  देखो  तो  ऐसा  देखो  कि  एक  बार  देखने  से  सभी  इन्द्रियों  की  तृप्ति  हो  जाए। स्वाद  लो  तो  इस  प्रकार  लो  कि  सभी  इन्द्रियों  को  हमेशा  के  लिए  तृप्ति  आ  जाए। सुगन्ध  इस  प्रकार  लो  कि  दिमाग  हमेशा  के  लिए  पुर  हो  जाए।

Leave a comment »

सुविचार

यदि  सहनशीलता  का  मधुर  स्वाद  लो  और  बलिदान  का  अमूल्य  मूल्य  पहचान  सको  तो  प्रत्येक  कष्ट  तुम्हारे  लिये  तरावट  बन  जाए।

Comments (1) »

सुविचार

लोग  शोक  के  लिये  इकट्ठे  हुए  हों  अथवा  उत्सव  के  लिये। दीपक  दोनों  अवस्थाओं  में  वही  प्रकाश  देता  है। इसी  तरह  हम  सबको  भी  खुशी  अथवा  गम  में  दिल  को  प्रसन्न  रखना  चाहिए।

Leave a comment »